गुरुवार, १२ जून, २००८

दोस्ती ...

अर्ज किया है ....

... के जुदाई का गम ना करना...
दुर रहा तो दोस्ती कम ना करना...
अगर मिले जिंदगी के किसी मोड पर
तो हमें देखकर नजर कहीं और ना करना...!!

0 टिपणी/ टिपण्या: